• Menu
  • Menu
मलांजकुडुम जलप्रपात

Malanjhkudum Waterfall: कांकेर के मलाजकुडूम जलप्रपात के बारे में जानकारी

Malanjhkudum Waterfall: कांकेर में मलाजकुडूम जलप्रपात तीन अलग-अलग झरनों से बने हैं। कांकेर जिला छत्तीसगढ़ के दक्षिणी क्षेत्र में स्थित है और पहले पुराने बस्तर जिले का हिस्सा था। दूध नदी, हटकुल नदी, महानदी नदी, तुरु नदी और सिंदूर नदी जिले से होकर गुजरने वाली पांच नदियां हैं। कृषि जिले की अर्थव्यवस्था का मुख्य आधार है। चावल क्षेत्र की प्रमुख फसल है। चना, कोदो, गेहूँ, गन्ना, भुट्टा, मूंग और तिली अन्य महत्वपूर्ण फसलें हैं।

कांकेर के मलांजकुडुम जलप्रपात के बारे में जानकारी

मलाजकुडूम जलप्रपात

कांकेर में मलांजकुडुम झरना 10 मीटर, 15 मीटर और 9 मीटर की ऊंचाई के साथ तीन झरनों से बना है। मलाजकुडूम झरना कांकेर से 15 किलोमीटर दूर हैं और दूध नदी पर स्थित हैं। हर साल मानसून में हजारों पर्यटक इस प्यारे और सुरम्य जलप्रपात को देखने आते हैं।

प्राचीन काल से छत्तीसगढ़ में मलाजकुडूम जलप्रपात सबसे शानदार झरनों में से एक रहा है। यह जलप्रपात मुख्यतः मानसून के मौसम में अपनी ख़ूबसूरती से मन को मोह लेता है, इस मौसम में ही आगंतुकों को आकर्षित करता है।

मलाजकुडूम झरना का फोटो


मलांजकुडुम वॉटरफॉल देखने कब और कैसे जाएँ

यह जलप्रपात कांकेर से 15 किलोमीटर दूर हैं, जहाँ अपने निजी वाहन से पहुंच से सकते है, इस जलप्रपात को देखने मानसून के मौसम में जाएँ।

  • नजदीकी रेलवे स्टेशन – पर्यटन स्थल से निकटतम रेलवे स्टेशन का नाम रायपुर है और स्टेशन से दूरी 142 किलोमीटर
  • नजदीकी हवाई अड्डा – स्वामी विवेकानंद हवाई अड्डा रायपुर
  • नजदीकी बस स्टैंड – कांकेर बस स्टैंड

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *